The World Factbook CIA Home CIA Home About CIA Careers Offices of CIA News & Information Library TEEN?s Page Contact CIA CENTRAL INTELLIGENCE AGENCY

         

This page was last updated on 31 May, 2007


Map of Algeria




Muth marne se kya hota hi details hindi:
Definition Field Listing
ये एक्सटर्नल लिंक हैं जो एक नए विंडो में खुलेंगे. 2. पत्रिका 'सेक्शुअल एंड रिलेशनशिप थैरेपी' के मुताबिक इससे रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है और यह संक्रमण से बचाता है. कई शोधों से पता चला है कि जिन लोगों में ऑर्गेज्म अधिक हुआ होता है उनमें इम्युनोग्लोबिन ए की मात्रा अधिक होती जो जुकाम से बचाने में सहायक होती है. ये एक्सटर्नल लिंक हैं जो एक नए विंडो में खुलेंगे. 1. हस्तमैथुन से मासिक धर्म से जुड़ी परेशानियों को दूर करने में मिल सकती है. मासिक धर्म के दौरान होने वाले दर्द से हस्तमैथुन से निकलने वाले रसायन की वजह से राहत मिलती है. विशेषज्ञों का मानना है कि यह पूरी तरह से ग़लत धारणा है. असलियत में इसके उल्टा होता है और हस्तमैथुन से एक बेहतर यौन संबंध बनाने का मौका मिलता है. 5. लोगों के बीच यह ग़लतफहमी है कि हस्तमैथुन से यौन संबंधों पर बुरा असर पड़ता है. 4. इससे शारीरिक और मनोवैज्ञानिक स्तर पर रिलैक्स होने का एहसास होता है. चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम. बीमारों को सेक्स के लिए सरकारी मदद की मांग. फिनबर्ग स्कूल ऑफ़ मेडिसिन में स्त्री और प्रसूति रोग की प्रोफेसर लॉरा स्ट्रीचर कहती हैं, "हस्तमैथुन से गीलापन बढ़ता है जिससे कि योनि का सूखापन दूर होता है और इससे दर्द से राहत मिलती है.". 'वो जानता था कि मैं 14 साल की थी'. विशेषज्ञों का मानना है कि हस्तमैथुन एक स्वस्थ सेक्स जीवन का हिस्सा है. 3. फ्रेंच इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ एंड मेडिकल रिसर्च के शोध के मुताबिक हस्तमैथुन के बाद अच्छी नींद आती है. अनिद्रा को दूर करने का यह सबसे सुरक्षित और बेहतर तरीका है खासकर मर्दों के लिए. क्योंकि इसके बाद मर्दों में यौन इच्छा खत्म हो जाती है और उन्हें नींद आने लगती है. इससे उन महिलाओं को भी मदद मिलती है जिन्हें ऑर्गेज्म नहीं होने की समस्या होती है. (बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.). हस्तमैथुन हाथ या अन्य किसी चीज़ से यौन आनंद प्राप्त करने का तरीका होता है. कई समाजों में आमतौर पर इसे अनैतिक और हानिकारक माना जाता है. लेकिन विशेषज्ञों की राय उलट है और वे इसे सुख की अनुभूति के साथ-साथ पुरुषों और महिलाओं के स्वास्थ्य के लिए फ़ायदेमंद भी मानते हैं.